Tu jaruri saa: Ek pyari si love story (Hindi Edition) por Virendra Singh

Titulo del libro: Tu jaruri saa: Ek pyari si love story (Hindi Edition)

Autor: Virendra Singh

Número de páginas: 65 páginas

Fecha de lanzamiento: December 3, 2018

Descargue o lea el libro de Tu jaruri saa: Ek pyari si love story (Hindi Edition) de Virendra Singh en formato PDF y EPUB. Aquí puedes descargar cualquier libro en formato PDF o Epub gratis. Use el botón disponible en esta página para descargar o leer libros en línea.

Tu jaruri saa: Ek pyari si love story (Hindi Edition) por Virendra Singh

Virendra Singh con Tu jaruri saa: Ek pyari si love story (Hindi Edition)

मै - " क्या फैक रहा है . . और हा आयशा नाम है उसका क्या लौंडिया लौंडिया कर रहा है "
दीपक - " ओहो तो तुम भी शहीद हो गये . . ?,आयशा क्यों भाभी बोल देते है काहे रो रहे हो . ? ? "
मै - " ऐसा कुछ नही है "
दीपक - " अब ये भी तुम बताओगे हमें,साला पी एस डी किये है हम आशिकी में "
मै - " पी एच डी होता है "
दीपक - " हा हा वही,साला अब हमारी जरनल नालेज सही करने मत बैठो"
मै - " अरे कुछ समझ नही आ रहा हमें ऊपर से तुम और टेंशन मत दो "
दीपक - " अरे टेंशन काहे का खुद पे भरोसा नही क्या,कोई कमी बेसि है क्या . . ?,साला सुबह सुबह दो घंटे जिम में बीता के बॉडी बनाये हो,अब वक़्त आ गया है फ़ायदा उठाने का समझे. "
मै - " साले घटिया आदमी,रहने दे तेरी सलाह नही चहिये हमें "
दीपक - " ये भगवान भी अखरोट उसे ही क्यों देता है जिसके दाँत नही होते,अरे साला लड़की सामने से तंदूरी चिकन परोस रही है तुम पंडित बने फ़िर रहे हो . . ? "
मै - " भाई तू माफ कर मुझे . . "
दीपक मुझे ज्ञान देता रहा,मै टॉवल उठा के बाथरूम में घुस गया.